---Advertisement---

विश्व योग दिवस: हर साल 21 जून को क्यों मनाया जाता है विश्व योग दिवस, देखें पूरी जानकारी

By
On:
Follow Us

विश्व योग दिवस: हर साल 21 जून को क्यों मनाया जाता है विश्व योग दिवस, देखें पूरी जानकारी

आज शुक्रवार, जून को दुनिया भर के देश 10वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मना रहे हैं, योग दिवस पर देशभर में योग शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। यह भारत की अमूल्य धरोहर है, जिसकी खुशबू अब धीरे-धीरे पूरी दुनिया में फैल रही है। दुनिया के तमाम देशों में योग कार्यक्रम हो रहे हैं. दुनिया भर में भारतीय दूतावास और उच्चायोग भी बड़े पैमाने पर योग को बढ़ावा देने के लिए कार्यक्रम चलाएंगे।

भगवान शिव दुनिया के पहले आदियोगी हैं
आपको बता दें कि योग प्राचीन काल से ही भारत की संस्कृति का हिस्सा रहा है। भगवान शिव को आदियोगी कहा जाता है, जो दुनिया के पहले योगी हैं। वह सदैव योग मुद्रा में लीन रहते हैं। भारत के चारों वेद और उपनिषद योग की महिमा और इसके अनेक लाभों का वर्णन करते हैं। देश के सभी योग गुरुओं ने भी देश की इस महान परंपरा को दुनिया के सभी देशों में फैलाया है, जिसने भारत को योग का दर्जा दिलाया है। गुरु.

पीएम मोदी ने रखा योग दिवस का प्रस्ताव
देश की वैश्वीकरण की महान परंपरा 2014 में सराहनीय रही, जब मोदी देश के प्रधानमंत्री बने। उन्होंने 27 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने का प्रस्ताव रखा। उनके इस प्रस्ताव का 177 देशों ने समर्थन किया। 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने प्रस्ताव को हरी झंडी दे दी। साथ ही 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया गया.

21 जून की तारीख क्यों तय की गई?
आपको बता दें कि 21 जून दरअसल उत्तरी गोलार्ध में सबसे लंबा दिन होता है, इसे हम ग्रीष्म संक्रांति कहते हैं। इसे साल का सबसे लंबा दिन माना जाता है। इस ग्रीष्म संक्रांति के बाद, सूर्य दक्षिणायन में प्रवेश करता है। दोनों कालखंडों के बीच का यह समय योग और अध्यात्म के लिए बेहद खास माना जाता है। जिसके कई शारीरिक और मानसिक फायदे होते हैं। इसीलिए योग दिवस के लिए 21 जून की तारीख तय की गई

For Feedback - feedback@example.com
Join Our WhatsApp Channel

Leave a Comment