---Advertisement---

वाइन रेट बड़ा अपडेट: हरियाणा में जाम पीने वालों को बड़ा झटका, महंगी हुई शराब………, जानें पूरी जानकारी

By
On:
Follow Us

वाइन रेट बड़ा अपडेट: हरियाणा में जाम पीने वालों को बड़ा झटका, महंगी हुई शराब………, जानें पूरी जानकारी

जाम छलकाने वालों को लग सकता है बड़ा झटका! हरियाणा में शराब और बीयर के दाम बढ़ गए हैं. सरकार ने आयातित शराब को भी नई नीति के तहत ला दिया है। जिस कीमत पर ठेकेदार को थोक में विदेशी शराब मिलेगी, उससे 20 फीसदी मुनाफे पर शराब बेची जाएगी।

लाइसेंसधारी बार संचालक पास के तीन ठेकों से शराब खरीद सकेंगे

होटल में लाइसेंसधारी बार संचालक आसपास के 3 ठेकों में से किसी से भी शराब खरीद सकेंगे। शर्त यह है कि तीनों शराब ठेके अलग-अलग लाइसेंस धारकों के होने चाहिए। अब नई आबकारी नीति में रिजर्व प्राइस 7 फीसदी कर दिया गया है, जबकि शराब के रेट कम बढ़ाए गए हैं. इस बार कीमत 20-25 रुपये प्रति पेटी बढ़ा दी गई है।

संभागीय आयुक्तों की शक्तियां कम कर दी गईं

हरियाणा सरकार ने राज्य के मंडलायुक्तों की शक्तियां कम कर दी हैं. राज्य सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल का कार्यकाल पलट दिया है। फलस्वरूप 9 जनवरी को सभी प्रमंडलीय आयुक्त, रेंज आईजी को जारी निर्देश पत्र में शामिल संयुक्त बैठक, संयुक्त समीक्षा बैठक का कॉलम हटा दिया गया है.

मंडलायुक्त और पुलिस प्रशासन के अधिकारी पहले की तरह अपने-अपने स्तर पर बैठक कर रिपोर्ट मुख्यालय भेजेंगे। इसका मुख्य कारण आईएएस और आईपीएस लॉबी में बढ़ता टकराव है।

प्रमंडलीय आयुक्त और आईजी तैनात हैं

हरियाणा में अंबाला, रोहतक, गुरुग्राम, फ़रीदाबाद और रेवाडी रेंज हैं, जहां मंडलायुक्तों को नागरिक प्रशासन द्वारा और रेंज के आईजी को पुलिस द्वारा तैनात किया जाता है। अक्सर, सरकार द्वारा पदोन्नत और सेवानिवृत्ति के करीब वाले आईएएस अधिकारियों को संभागीय आयुक्त के रूप में नियुक्त किया जाता है।

जबकि पुलिस नियमों के मुताबिक आईपीएस की सीधी भर्ती या वरिष्ठ आईपीएस को रेंज का आईजी नियुक्त किया जाता है। इसी तरह, कई जिलों में सीधे भर्ती किए गए आईएएस या वरिष्ठ आईएएस को डिप्टी कमिश्नर और आईपीएस को एसपी नियुक्त किया जाता है।

For Feedback - feedback@example.com
Join Our WhatsApp Channel

Leave a Comment